परशुराम रथ यात्रा में नजर आएं केसरिया मराठी साफे ही साफे

- पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी साफा धारण कर दिया एकजुटता का संदेश
-औरंगाबाद ने तोड़े रथ यात्रा के सारे रिकॉर्ड

0
681
परशुराम रथ यात्रा में नजर आएं केसरिया मराठी साफे ही साफे

औरंगाबाद। विप्र फाउंडेशन की कांची काम कोटि से 8 नवम्बर को प्रारंभ हुई परशुराम कुंड आमंत्रण यात्रा के औरंगाबाद पहुंचने पर ऐतिहासिक अगवानी व स्वागत हुआ। औरंगाबाद में जुटी भीड़ ने अमृत भारत रथ यात्रा के अब तक के सारे रिकॉर्ड को तोड़ डाले। यहां शोभायात्रा में महिला-पुरुषो ने मराठी आन बान शान का प्रतिक केसरिया साफा बांध कर यात्रा का भव्य स्वागत किया। रेणुका माता मंदिर पर बड़ी संख्या में एकत्रित विप्र समाज के लोगो ने रथ में स्थित भगवान परशुराम की मूर्ति की पूजा कर वाहन रैली शुरू की।

परशुराम रथ यात्रा में नजर आएं केसरिया मराठी साफे ही साफे

दस किलोमीटर लंबी शोभा यात्रा क्रांति चौक से वृंदावन मंदिर (इस्कान मंदिर,)पहुंचकर सभा में बदल गई जहां भगवान परशुराम की अरुणाचल में प्रतिष्ठित की जाने वाली 51 फ़ीट की मूर्ति निर्माण में सहयोग का संकल्प लिया। औरंगाबाद के इस ऐतिहासिक को अमलीजामा पहनाने में विप्र फाउंडेशन की जोन टीम जुटी हुई थी, जबकि महाराष्ट्र सीमा में प्रवेश से ही विफा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आर. बी.शर्मा व जोन प्रदेशाध्यक्ष राजेश बुटोले पूरी तरह कमान संभाले हुए हैं।

परशुराम रथ यात्रा में नजर आएं केसरिया मराठी साफे ही साफे

जालना में राममंदिर की तरह सहयोग का संकल्प

औरंगाबाद से पहले जालना में सर्व समाज ने भव्य स्वागत किया। शहर के प्रमुख मार्गो से मोटर साईकिल रैली के रूप में धर्म सभा स्थल तक पहुंचे रथ का विभिन्न सामाजिक संग़ठनों ने न केवल स्वागत किया, बल्कि मूर्ति निर्माण के लिए पूर्ण सहयोग देने का संकल्प लिया। शिवाजी चौक से शुरू हुई वाहन रैली का राममंदिर में सुंदर कांड परिवार की तरफ से मनोज महाराज के नेतृत्व में भव्य स्वागत कर सभी सनातनियों को एक झंडे के साथ जुड़ने का आह्वान किया गया।भाजपा के जालना शहर अध्यक्ष राजेंद्र राउत सहित शहर के गणमान्य जन मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here