श्रीमद्भभागवत कथा का शुभारंभ, मंगल कलश यात्रा निकली

0
105
श्रीमद्भभागवत कथा का शुभारंभ, मंगल कलश यात्रा निकली

भरतपुर। श्री सनातन धर्म यात्रा समिति व ब्रज भूमि कल्याण परिषद के संयुक्त तत्वाधान में श्रीमद्भभागवत का शुभारंभ श्री बृजेन्द्र बिहारी मंदिर से मंगल कलश यात्रा निकाल कर हुआ। कलश यात्रा में सैकड़ों कृष्ण भक्त मातृ शक्ति भगवा पताका लेकर उत्साह के साथ यात्रा मे सम्मिलित हुए रथ पर कथा व्यास परम पूज्य संत संतोष सागर जी महाराज व मुख्य यजमान हरिदत्त शर्मा व कुसम शर्मा श्रद्धा के साथ श्रीमद भागवत पुराण जी को टेक्नोलॉजी पार्क सेवर कथा स्थल पर गाजे बाजे के साथ लेकर पधारे।

पूजन कथा के मुख्य संयोजक डॉ. आलोक शर्मा व मधु शर्मा सह संयोजक अनिल भारद्वाज व उमा शर्मा , देवेंद्र चामड़, लोकेश सिंघल कल्पना सिंघल, पार्षद अनिल शर्मा, रविकांत गुप्ता, नेत्रकमल मुदगल , गीतम शर्मा, तारा चंद गुप्ता, विनोद चतुर्वेदी ,गौरव शर्मा योगेश शर्मा,ओमप्रकाश आज़ाद,महेंद्र कुमार सहायक आयुक्त एस टी , हर्ष शर्मा आदि ने किया। इसके पश्चात संतोष सागार जी माहाराज के सानिध्य मे टेक्नोलॉजी पार्क के छात्रों ने योग कर योग दिवस मनाया।

कथा मे संत संतोष जी महाराज ने कहा युवाओ को भारतीय संस्कृति से अवगत कराने हेतु संकलब्ध यह भगवात कथा युवाओ को अवश्य सुननी चाहिए। देश सामाज के लिए सुसंस्कारित युवा ही सच्ची सेवा भावना से काम कर सकता है। इसके साथ उन्होंने कथा मे गीता के महत्त्व को बताते हुए माध्यमिक शिक्षा मे गीता को अनिवार्य करने की भी बात कही। कथा के प्रथम दिन विप्र फाउंडेशन भरतपुर ने संत का अंग वस्त्र एवं बाके बिहारी की तस्वीर भेट कर सनातन यात्रा के भरतपुर आगमन पर उनका अभिनंदन किया।

विप्र फाउंडेशन युवा के प्रदेशाध्यक्ष इन्दुशेखर शर्मा , प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष गंगाराम पाराशर, प्रदेश महामंत्री दयाचन्द पचोरी, युवा के प्रदेश महामंत्री देवाशीष भारद्वाज, बृजभूषण पाराशर, केदारनाथ पाराशर, राजेंद्र दंडोतिया उपस्थित रहे। कथा विराम पर सह संयोजक अनिल भारद्वाज ने बताया कि संतोष सागर जी महाराज ने राजस्थान के 33 जिलों में कथा के माध्यम से सनातन धर्म का प्रचार प्रसार के साथ 5 लाख युवाओं को गीता अध्ययन हेतु निशुल्क गीता वितरण का संकल्प लिया है। 27 जून तक 1 बजे से 5 बजे तक श्रीमद भागवत कथा महा यज्ञ रहेगा। जिसमे सभी अधिक से अधिक संख्या मे पधारे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here