ट्रैफिक काे सुगम बनाने के लिए जयपुर शहर को सरकार की ओर से 5 सौगातें

इधर...भविष्य की तैयारी रामनिवास बाग पार्किंग फेज-2 और सिविल लाइन आरओबी का शिलान्यास कल

0
895

जयपुर : कल जयपुर शहर को सरकार की ओर से 5 सौगातें मिलेंगी। तीन आज के लिए और 2 भविष्य के लिए होंगी। शहर के ट्रैफिक काे सुगम बनाने के लिए तीन मुख्य प्राेजेक्ट सीतापुरा, जाहाेता आरओबी और बम्बाला पुलिया का सपना रविवार काे पूरा हाे जाएगा। मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत रविवार काे सीतापुरा, जाहाेता आरओबी, बम्बाला पुलिया विस्तार प्राेजेक्ट का वर्चुअल लाेकापर्ण करेंगे। इन तीनाें प्राेजेक्टाें का काम 2016-17 में शुरू हुआ था।

5 साल में बनकर तैयार हुए इन तीनाें प्राेजेक्ट 138 कराेड़ रुपए खर्च हुए। इसके अलावा मुख्यमंत्री गहलाेत सिविल लाइन आरओबी और रामनिवास बाग पार्किंग फेज-2 का शिलान्यास भी करेंगे। ये दाेनाें प्राेजेक्ट डेढ़ से दाे साल में बनकर तैयार हाेंगे। इस दाैरान मुख्यमंत्री 22 गाेदाम पर महात्मा ज्याेतिबा फुले की प्रतिमा का उद्घाटन करेंगे। जानकारों का कहना है कि आरोबी और पुलिया के शुरू होने से काफी हद तक ट्रैफिक जाम की समस्या से मुक्ति मिलेगी।

सीतापुरा आरओबी

कुल लागत- 75 कराेड़
कुल लम्बाई 990 मीटर
जयपुर-स.माधाेपुर रेलवे ट्रेक पर बने इस आरओबी की घाेषणा 2015 में हुई थी। इस आरओबी पर ट्रैफिक शुरू हाेने से सीतापुरा रीकाे इंडस्ट्रीयल एरिया, महात्मा गांधी अस्पताल, प्रतापनगर और जगतपुरा के लिए सीधी कनेक्टिवी हाे जाएगी। 30 मई 2016 में काम शुरू हुआ और 28 फरवरी काे कंपलीट हुआ।

जाहाेता आरओबी

कुल लागत42 कराेड़
लम्बाई785 मीटर
जयपुर-सीकर ट्रैक पर जाहाेता आरओबी के शुरू हाेने से जैतपुरा, रामपुरा डाबडी, कालाडेरा, जालसू और जेडीए की स्वप्न लाेक, आनंद लाेक की राह सुगम हाेगी। इससे गुजरने वाले हजाराें वाहन चालकाें काे रेलवे फाटक पर लम्बा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। 19 जून 2016 काे काम शुरू हुआ और 28 फरवरी काे कंपलीट हुअा।

बम्बाला पुलिया विस्तार

कुल लागत 21.27 कराेड़
लम्बाई 134 मीटर
एनएच-11 पर स्थित बम्बाला पुलिया पर ट्रैफिक दबाव काे देखते हुए इसके विस्तार की याेजना बनाई गई। इसके लाेकार्पण से सांगानेर, सीतापुरा और टाेंक राेड़ से गुजरने वाले वाहनाें बिना जाम में फंसे निकले सकेंगे। इस प्राेजेक्ट काम 1 फरवरी 2017 में शुरू हुआ और 2 मार्च काे काम पूरा किया गया।

इनका शिलान्यास-

सिविल लाइन आरओबी

लागत 75 कराेड़
काम की डेडलाइन 18 महीने
जयपुर-दिल्ली रेलवे लाइन पर स्थित सिविल लाइन फाटक शहर काे दाे हिस्साें में बांटता है। रेलवे ट्रैफिक के चलते यह फाटक दिनभर में 70 बार से ज्यादा बंद हाेता है। इस प्राेजेक्ट काे 18 महीने में कंपलीट किया जाएगा।

रामनिवास बाग पार्किंग फेज-2

लागत- 95 कराेड़
पार्किंग क्षमता 1000
रामनिवास बाग पार्किंग फेज-2 का निर्माण 95 कराेड़ रुपए लागत से करवाया जाएगा। इसकी पार्किंग क्षमता करीब 1000 चाैपहिया ओर दुपहिया वाहनाें की हाेगी। प्राेजेक्ट का काम 2 साल में पूरा पूरा हाेगा। हालांकि राम निवास में 900 से अदिक वाहनों की पार्किंग है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here