लिमथान में यज्ञ मीमांसा की बही सरिता

  • शंकराचार्य जयंती पर हुई धर्मसभा
    वेदपाठ से पंचकुंडीय विष्णु यज्ञ की पूर्णाहुति
  • 0
    191
    यज्ञ

    बांसवाड़ा : परशुराम जयंती से आदि शंकराचार्य की जयंती तक आहूत पंच दिवसीय विष्णु महायाग का समापन नारियल हवन के साथ हुआ। लिमथान के ऐतिहासिक परशुराम मन्दिर में शुक्रवार को विविध आयोजन हुए। विप्र फाउंडेशन के तत्वावधान में हुई धर्म सभा मे वक्ताओं ने यज्ञ, हवन, यजन और पूजन पर शास्त्रोक्त सम्मतियों से लाभान्वित किया। बड़ा रामद्वारा के सन्त रामप्रकाश महाराज, उदयराम महाराज, यज्ञाचार्य पंडित निकुंजमोहन पण्डया, विप्र संरक्षक मण्डल के जयप्रकाश पण्डया, विप्रवाहिनी के प्रदेश संगठन मंत्री डॉ विकास भट्ट, विप्र युवा प्रकोष्ठ के हेमेन्द्र पण्डया के आतिथ्य में आयोजित धर्मसभा में आध्यात्मिक विचारों की श्रृंखला बहुत देर तक प्रवाहित होती रही। कार्यक्रम में बांसवाड़ा प्रधान बलवीर रावत, लिमथान सरपंच सुगना देवी निनामा, मणिलाल पंचाल, नरेश पाटीदार उप सरपंच सुरवानिया, लक्ष्मण निनामा ने भी विचार व्यक्त किये।

    यज्ञ

    आरम्भ में विप्र फाउंडेशन के जिलाध्यक्ष योगेश जोशी के नेतृत्व में हुयेअनुष्ठान में कार्यक्रम संयोजक नारायणलाल त्रिवेदी, सह संयोजक राजेन्द्र जोशी, ललितकुमार जोशी ने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में तहसील अध्यक्ष नवनीत त्रिवेदी, जिला मंत्री विनोद पानेरी, ललित जोशी, प्रणव पण्डया सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित रहे। वेदोक्त मन्त्रों के उच्चारण के साथ लिमथान परशुराम धाम पुर्णाहुति की गई। धर्म सभा का संचालन महेश जोशी ने किया। आभार शैलेन्द्र प्रभात शर्मा ने व्यक्त किया। पण्डित निकुंजमोहन पंडया के आचार्यत्व में अंतिम दिन आयोजित महापूजा विधान में विविध उपचारों से पूजन किया गया। मुख्य यजमान देवेंद्र पर्वतसिंह गोयल बोदला के साथ जतिन राजेन्द्र जोशी, विठला मांगू, कमलाशंकर व्यास, जगदीश गौतम सियापुर, विनोद व्यास व लक्ष्मी बेन व्यास ने पूजा अर्चना की।

    कार्यक्रम में राकेश कलाल, विजयशंकर चौबीसा, राजेश चौबीसा, निखिल जोशी, नयन चौबीसा, अभिषेक, पार्थ, सुमित, यश जोशी, रणछोड़ भाई सियापुर, गौतम शर्मा, गौतम भाई सलिया ने विशेष सहयोग दिया। आचार्य मण्डल में पं.पंकज जोशी, पं.सतीश त्रिवेदी, पं आशीष भट्ट एवम पं.पुनीत त्रिवेदी ने यजमानों को पूजा विधि सम्पन्न करवाई।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here