Covid-19 : राजस्थान में बढ़ते कोरोना के बीच लॉकडाउन नहीं

151222 ashok gh

राजस्थान में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच सरकार ने लॉकडाउन से इनकार किया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ‘रोजी-रोटी बचाने के लिए हम लॉकडाउन नहीं लगा रहे हैं। ताकि आजीविका चलती रहे, लेकिन जीवन बचाना भी जरूरी है। हमें सख्ती करनी होगी। शादी समारोहों में आने वाले लोगों की संख्या को पहले कम ​किया, अब और कम करेंगे।’ गहलोत चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना को लेकर ग्राम पंचायत और स्थानीय निकाय स्तर पर ओपन वर्चुअल चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछली बार कोरोना गांवों में नहीं फैला था, लेकिन अब इससे मरने वालों में 30% गांवों से ही हैं।

सीएम ने कहा- ‘पहले कोरोना का डर था,अब लोगों में भय खत्म हो गया। जनता समझ नहीं रही है। लोग लापरवाह हो गए हैं। हमने सख्ती की है। नाइट कर्फ्यू लगाए हैं। रेस्टोरंट बंद किए हैं। शादी समाराहों में लोगों की संख्या और कम होगी। बहुत कम लोग मास्क लगा रहे हैं। हमारा मानना है कि मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के पालन में पुलिस का सहयोग कम लेना चाहिए। ज्यादा लेंगे तो झगड़े होंगे, बदतमीजी होंगी। पर लोग मानेंगे ही नहीं तो क्या करेंगे? मृत्यु दर डबल हो गई है। वैक्सीन के बाद भी लोग संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना की स्पीड डबल हो गई है। एक प्रकार से नया कोरोना आ गया है। यह बहुत खतरनाक है।’

गांवों में भी फैल रहा है कोरोना
गहलोत ने कहा- ‘पिछली बार कोरोना गांव में नहीं फैला था, लेकिन अब गांवों में फैल रहा है। कोरोना से मरने वालों में 30 फीसदी गांवों के हैं। छत्तीसगढ़, गुजरात और महाराष्ट्र में हालात भयावह हो रहे हैं। हमारे डूंगरपुर, बासंवाड़ा, जालौर, उदयपुर की तरफ हालत बिगड रहे हैं। इन जिलों में गुजरात से आने वाले लोगों की वजह से संक्रमण बढ़ रहा है।

राजस्थान सहित 8 राज्यों में वैक्सीन की कमी
वैक्सीन की कमी पर उन्होंने कहा कि राजस्थान ही नहीं आठ राज्यों में वैक्सीन की कमी है। इधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री झूठ बोल रहे हैं कि राज्य वैक्सीनेशन नहीं करवा रहे। मैंने इतना झूठ बोलते किसी स्वास्थ्य मंत्री को नहीं देखा। कह रहे हैं कि राज्य वैक्सीन लगवा ही नहीं रहे। हम इस पर कोई राजनीति नहीं कर रहे। हम वैक्सीन खत्म होने की सूचना दे रहे हैं। उसे ही केंद्र आलोचना मान रहा है। वैक्सीन पर केंद्र का अधिकार है। हमें उसे अवगत ही तो करवा रहे हैं कि वैक्सीन खत्म हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *