कोरोना को लेकर सख्त कदम उठाने की तैयारी में सरकार

AMT 3822 scaled

जयपुर : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राजस्थान में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बावजूद प्रदेशवासी अपने लापरवाही भरे व्यवहार में बदलाव लाकर मास्क पहनने, उचित दूरी बनाए रखने तथा भीड़ से दूर रहने के हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना नहीं करेंगे, तो राज्य सरकार सख्त कदम उठाने पर मजबूर होगी। उन्होंने कहा कि दूसरी लहर के दौरान संक्रमण बहुत अधिक तेजी से फैल रहा है तथा सभी लोग स्वास्थ्य नियमों की पालना कर इसे नियंत्रित रखने में सरकार की मदद करें।

संक्रमण और टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा बैठक

सीएम गहलोत मुख्यमंत्री निवास पर शनिवार रात को संक्रमण और टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के प्रसार के दौरान जिस तरह सभी वर्गों एवं समुदायों के लोगों ने राज्य सरकार का भरपूर सहयोग दिया और सभी स्वास्थ्य नियमों एवं अन्य दिशा-निर्देशों की पालना की उसी भावना और समर्थन की फिर से आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में कोरोना की रफ़्तार कम करने के लिए ये सख्त कदम उठाये जा सकते है

  • वैवाहिक एवं सामाजिक आयोजनों में उपस्थित व्यक्तियों की संख्या 50 की जाए।
  • रात्रिकालीन कर्फ्यू की अवधि शाम 6 बजे से 6 बजे तक बढ़ाई जाए।
  • ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में धार्मिक मेलों, उत्सवों, जुलूस आदि पर रोक लगे।
  • सरकारी कार्यालयों की तर्ज पर निजी कार्यालयों में उपस्थिति 75 प्रतिशत की जाए।
  • रेस्टोरेंट आदि में केवल ‘टेक-अवे‘ की सुविधा की अनुमति हो।
  • कोचिंग संस्थानों में कक्षाओं पर रोक लगाई जाए।
  • स्कूलों एवं शैक्षणिक संस्थानों में विद्यार्थियों को केवल परीक्षा के लिए ही प्रवेश हो।
  • बसों एवं अन्य सार्वजनिक वाहनों में यात्रियों की संख्या 50 प्रतिशत की जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *