राजस्थान में कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल

- विस्फोट रुकने का नाम नही ले रहे - अस्पतालों में मरीजों की कतारें - कोरोना के सारे पुराने रिकॉर्ड ध्वस्त -जयपुर में मरीजों की संख्या थोड़ी सी कम हुई पर प्रदेश में आंकड़ा 4401 पर पहुंचा

0
551

जयपुर : कोरोना की दूसरी लहर ने पूरे प्रदेश को हिला कर रख दिया. एक ही दिन में 4401 मरीजों के आंकड़े ने सबको डराकर रख दिया.कोरोना इस लहर के बीच जयपुर में आज का आंकड़ा थोड़ा सा कम 657 का रहा लेकिन इससे खुश होने की स्थिति नहीं हैं. कोरोना के चलते अस्पतालों में मरीजों की कतारें लगी हुई है। कई निजी अस्पतालों में तो बेड ही खाली नहीं मिल रहे। प्रदेश के कई शहर लॉक डाउन की तरफ जा रहे हैं। सीएम अशोक गहलोत ने एक बार फिर लोगों से स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है.

खांसी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण दिखने पर डी-डाइमर टेस्ट व सीटी स्कैन भी कराएः

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया कि हम सबके लिए यह चिंता का विषय होना चाहिए कि आज राज्य में कोरोना के अब तक के सर्वाधिक 4401 मामले सामने आए हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोरोना वायरस की इस नई लहर में यह तथ्य सामने आया है कि कई बार संक्रमित व्यक्ति का आरटी-पीसीआर टेस्ट निगेटिव आता है जबकि असल में व्यक्ति कोविड पॉजिटिव होता है. इसलिए यदि खांसी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण दिखें और आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आए तो डॉक्टर की सलाह लेकर डी-डाइमर टेस्ट व सीटी स्कैन भी करवाएं.

सीएम की अपील-संक्रमण की इस गंभीरता को समझे लोगः

विशेषज्ञों के हवाले से गहलोत ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर पहली लहर से अधिक खतरनाक है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि संक्रमण की इस गंभीरता को आम लोग अभी भी नहीं समझ रहे हैं. मैं आप सभी से आग्रह करता हूं कि मास्क लगाएं सामाजिक दूरी का पालन करें और हाथ साफ करते रहें क्योंकि बचाव का यह कारगर उपाय है.

नाइट कर्फ्यू पर भाजपा को आपत्ति
उदयपुर में शाम 6 बजे से शुरू होने वाले नाइट कर्फ्यू को लेकर सियासत शुरू हो गई है। शहर के व्यापारियों के बाद अब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी नाइट कर्फ्यू के समय को लेकर गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।कटारिया ने कहा कि राजस्थान के सभी जिलों में कोरोना बढ़ रहा है। लेकिन सिर्फ उदयपुर में ही नाइट कर्फ्यू के समय को 6 बजे किया गया है। जबकि प्रदेश के अन्य शहरों में यह रात 8 बजे से है। यह बात पूरी तरह से गलत है। कटारिया ने कहा- राका साहब मेरी मुख्यमंत्री से बात कराएं…। ताकि मैं उन्हें उदयपुर के व्यापारियों की पीड़ा समझा सकूं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार द्वारा समय रहते नाइट कर्फ्यू के समय में फिर से परिवर्तन नहीं किया गया तो वे खुद सड़क पर बैठकर इसका विरोध करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here