ACB Action : ढाई लाख की रिश्वत लेते सहायक निदेशक रामप्रसाद गिरफ्तार

0
317
ACB

बूंदी : ACB की बूंदी टीम ने कृषि विभाग उद्यान के सहायक निदेशक रामप्रसाद मीणा को ढाई लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। ACB की गिरफ्त में आने के बाद रामप्रसाद मीणा की मीडियाकर्मी जब फोटो खींचने लगे तो वह बड़ी बेशर्मी से कहा कि फोटो तो कभी-कभी खींचते हैं, खींचने दो। यहां तक कि रिश्वत की राशि को उधार की राशि बताता रहा और कहा कि मैं तो विश्वास पात्र लोगों को उधार देता हूं।

ACB के पुलिस उपअधीक्षक ज्ञान चंद मीणा ने बताया कि परिवादी पुरुषोत्तम शर्मा निवासी चेंता हिंडोली, जिला बूंदी ने एसीबी को शिकायत देकर बताया कि वह सोलर का कार्य करता है और उसे प्रति सोलर कनेक्शन की एवज में 18 हजार रुपए मानदेय मिलता है। वहीं, आरोपी को ACB कार्रवाई की भनक लगते ही वह अपने घर पर चला गया और मकान का गेट लगाकर छत पर चढ़ गया और एसीबी को छत से कूदने की धमकी देने लगा। इस दौरान ACB ने सूझबूझ दिखाते हुए रिश्वतखोर अधिकारी को दबोच कर एसीबी कार्यालय लेकर आ गई, जहां पर उससे पूछताछ की है। आरोपी सहायक निदेशक रामप्रसाद मीणा परिवादी से प्रति कनेक्शन/प्रति फाइल 4 हजार रुपए रिश्वत मांग रहा है और रिश्वत नहीं देने पर नया कनेक्शन देने से मना कर रहा था। शिकायत प्राप्त होने पर 11 फरवरी को शिकायत का सत्यापन करवाया गया और 14 फरवरी को परिवादी से ली गई ढाई लाख रुपए रिश्वत की राशि प्राप्त की गई।

घूसखोर सहायक निदेशक रामप्रसाद मीणा ने परिवादी से उसके बकाया भुगतान पास करने की एवज में 5 लाख रुपए की डिमांड की थी, जिससे परेशान होकर परिवादी ने ACB का सहारा लिया। जिसके बाद एसीबी ने जाल बिछाते हुए कृषि अधिकारी को रिश्वत लेते हुए दबोच लिया। ACB ने ढाई लाख रुपए की राशि बरामद कर आरोपी को डिटेन कर लिया है और मामले में अनुसंधान जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here