540 किलो चांदी का मामला: उत्तराखंड में पकड़ा गया वारदात का मास्टरमाइंड शेखर अग्रवाल और उसका भांजा

- जयपुर पुलिस कमिश्नरेट में वेस्ट जिले की स्पेशल टीम (डीएसटी) ने पकड़ा - एसओजी कर रही थी केस की जांच, अब तक 11 लोग हो चुके है गिरफ्तार

0
561

जयपुर। वैशाली नगर इलाके में 23 जनवरी को 26 फीट लंबी सुरंग बनाकर हेयर ट्रांसप्लांट सर्जन डॉ. सुनीत सोनी के घर में 540 किलो वजनी चांदी की 18 सिल्लियां चुराने वाले मास्टरमाइंड शेखर अग्रवाल और उसके भांजे जतिन जैन को उत्तराखंड से गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपी करीब तीन करोड़ की चांदी का मामला सामने आने के बाद फरार चल रहे थे। फरारी के दौरान उत्तराखंड में छिपे दोनों आरोपी नेपाल भागने की फिराक में थे। लेकिन इसके पहले ही जयपुर पुलिस कमिश्नरेट में वेस्ट जिले की स्पेशल टीम (डीएसटी) ने दोनों को धरदबोचा।

प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि शेखर अग्रवाल पर पर करीब 4-5 करोड़ रुपए का कर्जा था। इसको चुकाने के लिए रकम की व्यवस्था नहीं हुई। तब उसने अपने रिश्तेदार जतिन और परिचित बनवारी लाल जांगिड़ के साथ मिलकर डॉ. सुनीत सोनी के घर में चांदी चुराने की योजना बनाई। करीब तीन सप्ताह पहले पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर केस की जांच वैशाली नगर थाने से एसओजी को सौंपी गई थी।

अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी शेखर अग्रवाल (38) राम मार्ग, श्याम नगर का रहने वाला है। वह बड़ी चौपड़ पर मेंहदी का चौक में पिछले 10 साल से एनजे बुलियंस एंड ओर्नामेंट्स के नाम से फर्म चलाकर ज्वैलरी कारोबार करता है। वहीं, उसका भांजा जतिन जैन भी कारोबारी है। वह सीताबाड़ी, सांगानेर में रहता है। पूछताछ में सामने आया कि वर्ष 2018 में शेखर अग्रवाल की वैशाली नगर निवासी डॉ. सुनीत सोनी से मुलाकात हुई थी।

डीसीपी प्रदीप मोहन शर्मा के मुताबिक पूछताछ में शेखर ने बताया कि उस पर करीब 4-5 करोड़ रुपए का कर्जा था। अपनी परेशानी बनवारी जांगिड़ को बताई। तब उसने डॉ. सुनीत सोनी के घर से चांदी निकालने का सुझाव दिया। तब आईडिया सही लगा तो शेखर अग्रवाल ने बनवारी लाल जांगिड़ के मार्फत डॉ. सुनीत सोनी के पीछे खाली भूखंड को जनवरी 2021 के पहले सप्ताह में 95 लाख रुपए में खरीदा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here