कारोबारियों ने सरेंडर की 41 करोड़ की प्रोपर्टी, 6.30 करोड़ के गहने और 4.30 करोड़ नकद मिला

0
349
41 करोड़

जयपुर : इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से पिछले दिनों 2 बड़े कारोबारी समूह से 41 करोड़ रुपए की अघोषित आय मिली है। विभाग ने इन दोनों समूह के अजमेर समेत अन्य जिलों में मौजूद 43 ठिकानों पर 9 फरवरी को छापा मारा था। आयकर विभाग ने ये कार्यवाही तिरूपति समूह और बाबा समूह पर की। जो मार्बल और मिनरल संबंधी व्यवसाय से जुड़े हैं।

10 फरवरी को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की टीम ने इन दोनों समूह के अजमेर के किशनगढ़, केकड़ी व सावर स्थित ठिकानों पर रेड की थी। इस दौरान दोनों कारोबारी के ठिकानों से चार करोड़ की नगदी जब्त की थी। वहीं, दोनों ही व्यापारियों के बैंक लॉकर भी खोले गए। जिस में भारी मात्रा में ज्वेलरी मिली थी। लॉकर से मिली ज्वेलरी की कीमतों का आंकलन किया, जिनका बाजार मूल्य करीब 6.30 करोड़ रुपए निकला। वहीं, बैंक लॉकर, घर और दफ्तरों से इनकम टैक्स की टीम को करीब 4.30 करोड़ रुपए की नकदी भी बरामद हुई।

करीब 5 दिन चली इस कार्यवाही में दोनों ही ग्रुप के मालिकों ने आयकर टीम के सामने सरेण्डर करते हुए अपनी अघोषित आय को सरेण्डर किया। इस दौरान बाबा समूह ने 30 करोड़ की, जबकि तिरुपति समूह ने 11 करोड़ की अघोषित आय स्वीकार की है। वहीं विभाग ने इस कार्यवाही के दौरान 4.30 करोड़ की नकदी और 6.30 करोड़ की ज्वेलरी को भी सील किया है। सूत्रों के मुताबिक छापे के दौरान आयकर विभाग को इन समूह के दफ्तरों और घर से बहुत से प्रॉपर्टी खरीद-बेचान के दस्तावेज भी मिले है, जिनका आंकलन भी इस आय में शामिल होना बताया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here