रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन करा चुके मरीजों ने योग कर अन्य मरीजों को किया प्रोत्साहित

0
208
हड्डी

उदयपुर। अक्सर रीढ़ की हड्डी के ऑपरेशन के बाद डॉक्टर आपको कुछ दिनों तक योग या एक्सरसाइज करने से मना करते हैं। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि कहीं स्ट्रेच की वजह से सर्जरी या ऑपरेशन वाली जगह पर खिंचाव पड़ने से कोई दिक्कत न आ जाए। लेकिन पेसिफिक मेडिकल काॅलेज एवं हाॅस्पिटल के अस्थि रोग विभाग की ओर से रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन करा चुके मरीजों के लिए योग शिविर के माध्यम से आसन करा कर उन्हे स्वस्थ्य और फिट रखने के साथ साथ अन्य मरीजों को भी प्रोत्साहित किया।

इस अवसर पर डाॅ. अनुरोध शाडिल्य ने बताया कि लोगो में भाॅन्तियाॅ है कि बढती उम्र में रीढ़ की हड्डी के ऑपरेशन के बाद ज्यादा समस्या हो जाती है और इसी के चलते वह दर्द के साथ अपनी पूरी जिन्दगी निकाल देते है। लेकिन अभी मेडिकल के क्षेत्र में हो रहे नए रिसर्च एचं तकनीको के चलते ऑपरेशन की सुविधा बहुत ही सुलभ हो गई है। इस दौरान डाॅ. भानूप्रताप राठौड़, ने कहा कि पेसिफिक मेडिकल काॅलेज एण्ड हाॅस्पिटल में उच्च स्तरीय चिकित्सकों की टीम के चलते रीढ़ की हड्डी की सभी तरह की बीमारी के ऑपरेशन की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

चेयरमैन राहुल अग्रवाल ने बताया कि पीएमसीएच में अस्थि रोग से सम्बन्धित सभी तरह की बीमारियों के इलाज की सुविधा बहुत ही रियायती दरों के साथ साथ चिंरजीवी योजना एव सरकारी कर्मचारियो के लिए आजीएचएस की सुविधा उपलब्ध है। कार्यक्रम के दौरान डाॅ.सुधीर शाडिल्य, योग प्रशिक्षक डाॅ.गुनीत मोंगा, डाॅ.सचिन, डाॅ.सबनीत, डाॅ.अभिलाष, डाॅ.हर्ष, डाॅ.नवदीप, डाॅ.देव, डाॅ.कार्निक, डाॅ.राहुल, डाॅ.यश के साथ साथ विभाग के अन्य चिकित्सक एवं स्टाॅफ भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here