अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ 15 मई से पांच विभागों का संयुक्त अभियान-एसीएस डॉ. अग्रवाल

  • जिला कलक्टर की अध्यक्षता में माइंस, वन, राजस्व, परिवहन और पुलिस विभाग का संयुक्त अभियान
  • पांचों विभागों के नियमों के अनुसार होगी सख्त कार्यवाही

0
101
अवैध खनन,

जयपुर : राज्य में अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ 15 मई से 14 जून तक एक माह का विशेष सघन जांच अभियान चलाया जाएगा। अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस, पेट्रोलियम और पीएचईडी डॉ.सुबोध अग्रवाल ने बताया कि अभियान का संचालन जिला कलक्टर की अध्यक्षता में गठित पांच विभागों के संयुक्त जांच दल द्वारा किया जाएगा। यह अभियान समूचे प्रदेश में एक माह तक एक साथ संचालित होगा। एसीएस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि जिला कलक्टर द्वारा माइंस, वन, राजस्व, परिवहन और पुलिस विभाग के संयुक्त जांच दलों का गठन किया जाएगा। संयुक्त जांच दल में राजस्व विभाग से उपखण्ड स्तर के अधिकारी, पुलिस विभाग से उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी, परिवहन विभाग से उपनिरीक्षक-निरीक्षक स्तर के अधिकारी और वन विभाग से रेंजर स्तर के अधिकारी होंगे।

माइंस विभाग से खनि अभियंता/खनि अभियंता सतर्कता, सहायक खनि अभियंता/सहायक खनि अभियंता सतर्कता, भू वैज्ञानिक एवं तकनकी कर्मचारी शामिल होंगे। इसके साथ ही विभाग मेें उपलब्ध खनि रक्षक और बोर्डर होमगार्ड को शामिल किया जाएगा। अभियान के दौरान खान, राजस्व, परिवहन, वन एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों द्वारा अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के प्रकरणों में अपने अपने विभागीय नियमों के अनुसार सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी ताकि भविष्य में अवैध खनन की संभावना नहीं रहे। इसके लिए कठोर निरोधात्मक व कानूनी कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि संयुक्त दल द्वारा की जाने वाली कार्यवाही के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा पलिस बल की व्यवस्था की जाएगी।

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अभियान की पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी अतिरिक्त निदेशक खान सतर्कता मुख्यालय नरेन्द्र कुमार कोठ्यारी की होगी। अतिरिक्त निदेशक माइंस जोन आवश्यक अधिकारी व कार्मिक उपलब्ध कराने के साथ ही वाहन व्यवस्था करेंगे। जोन में मार्गदर्शन व पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी अतिरिक्त निदेशक जोन की होगी। राज्य सरकार को जिलेवार सूचना प्रतिदिन प्रेषित की जाएगी। गौरतलब है कि राज्य सरकार द्वारा जारी आदेशों के अनुसार वन भूमि परअवैध खनन के लिए वन विभाग, खातेदारी व चारागाह भूमि पर अवैध खनन के लिए राजस्व विभाग, राजकीय भूमि पर अवैध खनन के लिए खान विभाग द्वारा कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हुए हैं।

खनिज बजरी एवं अन्य खनिजों के अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण की आए दिन आने वाली शिकायतों को देखते हुए एक माह का संयुक्त जांच अभियान चलाने का निर्णय किया गया है। उधर उदयपुर में खान निदेशक कुंज बिहारी पण्ड्यया ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से खान विभाग के सभी अधिकारियों से संवाद कायम करते हुए आवश्यक दिशानिर्देश दिए, तैयारीयों की समीक्षा और फीड बैक लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here