ऋषि पंचमी पर घनश्याम तिवाड़ी ने की हरिहर मंदिर में पूजा

0
100
ऋषि पंचमी पर श्री घनश्याम तिवाड़ी ने की हरिहर मंदिर में पूजा

जयपुर। ऋषि पंचमी के शुभ अवसर पर हरिहर मन्दिर, श्याम नगर में आज राज्यसभा सांसद घनश्याम तिवाड़ी के सानिध्य में यज्ञोपवित पूजन, दसविध स्नान, हेमाद्रि संकल्प, ऋषि तर्पण, पितृ तर्पण आदि कार्यक्रमों के साथ ही ऋषि पूजन किया गया। उक्त अवसर पर तिवाड़ी ने बताया कि सृष्टि के संचालन के लिए हमारे ऋषि – मुनियों ने तत्व प्रदान किए थे, आज ऋषियों और माता अरुंधति के पूजन का दिवस हैं साथ ही हेमाद्रि संकल्प का विशेष दिन भी है।

हेमाद्रि संकल्प सम्पूर्ण भारत राष्ट्र के एकजुटता और संस्कृति का प्रतीक हैं। हेमाद्रि संकल्प में सम्पूर्ण भारतवर्ष का वर्णन किया जाता है। जिसमें भारत में आने वाली सभी नदियां, सभी पहाड़, सभी प्रांत, सभी महापुरुषों का वर्णन किया गया है। इसमें मनुष्य के द्वारा किए गए मानसिक, वाचिक कर्म से किए गए अपराधों का वर्णन है। इन सभी अपराधों के लिए देवी – देवताओं से क्षमा याचना की जाती है।

ऋषि पंचमी पर श्री घनश्याम तिवाड़ी ने की हरिहर मंदिर में पूजा

इस दौरान श्री तिवाड़ी सहित सभी उपस्थित पंडितो ने दशविध स्नान किया। जिसमें शरीर की पवित्रता के लिए भस्म स्नान, मिट्टी स्नान, गोबर स्नान, गौमूत्र स्नान, गौदुग्ध स्नान, गौदधि स्नान, गौघृत स्नान, हल्दी स्नान, कुशा स्नान और शहद से स्नान के साथ शुद्ध जल से कुंड में स्नान किया। स्नान के बाद देवता, पूर्वजनों, ऋषियों के तर्पण के बाद भीष्म पितामह का तर्पण कर तर्पण विधि को पूरा कर यज्ञोपवीत धारण किया ।

तिवाड़ी ने कहा कि सनातन धर्म में ऋषि पंचमी के दिन हेमाद्रि संकल्प कर क्षमा याचना की जाती हैं। भारत का सांस्कृतिक धरातल इन सब बातों पर एक हैं , चाहे वह किसी भी धर्म – समाज के अनुयाई हों। तिवाड़ी ने इस पूजा के दौरान ऋषि पूजा के साथ-साथ प्रदेश की खुशहाली के लिए भी प्रार्थना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here