बाबा रामदेवजी महाराज समाज उत्थान विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु पैदल यात्रा विभिन्न गाँवो से होकर श्रीगंगानगर पहुंची

0
86
रामदेवजी

श्रीगंगानगर : बाबा रामदेवजी महाराज रुणिचा सेवा संस्थान रामदेवरा की ओर से 10 जुलाई को गांव पत्ररेवाला के बाबा रामदेव मंदिर तहसील अबोहर जिला फाजिल्का पंजाब से शुरू हुई बाबा रामदेवजी महाराज समाज उत्थान विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु पैदल यात्रा जो सरवर, सरवर खुईयां, अबोहर, अमरपुरा, कालीरावण, मनीवाली, सुंदरपुरा, मम्मड, लालगढ़, जाटान नाथ वाला, सादुल शहर बनने वाली लालगढ़ जाटान सियागावाली नाथ वाला इत्यादि दर्जनों गांव से होती हुई 17 जुलाई को श्रीगंगानगर की कुम्हार धर्मशाला नजदीक चहल चौक श्रीगंगानगर पहुंची।

पैदल यात्रा के श्रीगंगानगर पहुंचने पर ताराचंद भाटिया, सुरेश कुमार, डूंगरराम नायक, विक्रम भाटिया, मधु भाटिया, राकेश नायक, सोनू धानक, रतिराम जी, जयपाल, राकेश वर्मा इत्यादि सहित दर्जनों लोगों ने पैदल यात्रा का फूल माला पहनाकर स्वागत किया। पैदल यात्रा के संयोजक एवं संस्थान के अध्यक्ष धर्मपाल कटारिया ने बताया कि इस पैदल यात्रा का उद्देश्य 5 महीने के दौरान पांच राज्यों के हजारों गांव में पैदल घूम कर दो हजार सत्रह में 25 और 26 मार्च को हुए सम्मेलन जिसमें साधु-संतों ने सार्वजनिक रूप से एक सभा कर संत समागम एवं संत सम्मेलन कर एक फैसला लिया था कि बाबा रामदेव जी के नाम से रामदेवरा में रुणिचा में समाज उत्थान विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। जिसमें लाखों लड़के और लड़कियां निशुल्क विद्या प्राप्त करेंगे और इस विश्वविद्यालय का स्थान विश्व के टॉप टेन विश्वविद्यालय में प्रत्येक वर्ष रहेगा।

आज भारत के आजादी के 75 वर्ष बाद भी भारत के जो विश्वविद्यालय हैं वह दुनिया के जब तक 300 विश्वविद्यालयों की सूची बनती है तो विश्व के 300 विश्वविद्यालयों की सूची में भारत के एक विश्वविद्यालय का स्थान नहीं आता है। जो हमारी कमजोर शिक्षा व्यवस्था को दर्शाता है। इसलिए साधु संतों के सहयोग से साधु संतों के सानिध्य में विभिन्न धर्मों के लोगों के सामूहिक प्रयास सामूहिक नेतृत्व एवं सामूहिक भागीदारी से यह कार्य होने जा रहा है। जिसमें सभी लोगों से निवेदन है कि तन मन धन हर प्रकार से सहयोग करें तथा इस पैदल यात्रा में कदम से कदम मिलाकर साथ चलकर इस पैदल यात्रा को कामयाब बनाएं। यह पैदल यात्रा 5 महीने अर्थात 151 दिन चलेगी और 151 रामदेवरा पहुंचेगी संत समागम एवं सम्मेलन आयोजन किया जाएगा और उससे उसके बाद बाबा रामदेव जी महाराज समाज उत्थान विश्वविद्यालय की स्थापना हेतु नीम पत्थर रखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here