भरतपुर में अवैध खनन और साधु विजयदास की मौत को लेकर BJP अध्यक्ष को कमेटी ने सौंपी रिपोर्ट, नड्डा बोले- राजस्थान में अनकंट्रोल माइनिंग माफिया

0
100
रिपोर्ट

जयपुर : भारतीय जनता पार्टी ने भरतपुर में अवैध खनन और साधु विजयदास की मौत मामले की जांच CBI से करवाने की मांग रखी है। पार्टी ने स्ट्रेटेजी के साथ देश की राजधानी दिल्ली से यह मुद्दा जोर-शोर से उठाया है। साथ ही NGT और ED जैसी एजेंसियों से भी राजस्थान में कार्रवाई करने की मांग उठाई है। भरतपुर में अवैध खनन और संत विजयदास के आत्मदाह की जांच के लिए बनाई गई 4 मेंबर की बीजेपी फैक्ट फाइंडिंग हाईलेवल कमेटी ने आज अपनी रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा को दिल्ली में सौंप दी।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा कि राजस्थान में साधु विजयदास के आत्मदाह और बड़े स्तर पर अवैध माइनिंग की जांच के लिए गठित बीजेपी की फैक्ट फाइंडिंग टीम की रिपोर्ट मिल गई है। यह रिपोर्ट राजस्थान में निराशाजनक रवैये और कंट्रोल से बाहर हो चुके माइनिंग माफिया राज को उजागर करती है। नड्डा ने कमेटी मेंबर- पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री और प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, सीकर सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती, पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद सत्यपाल सिंह, उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक और सांसद बृजलाल यादव के साथ रिपोर्ट लेते और उस पर चर्चा करते फोटोग्राफ भी शेयर किए हैं। जयपुर ग्रामीण सांसद और बीजेपी प्रवक्ता राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ भी उनके साथ मौजूद रहे।

सरकार के संरक्षण में हो रहा अवैध खनन

नड्डा को रिपोर्ट सौंपने के बाद कमेटी मेम्बर्स ने प्रेसवार्ता की। बीजेपी राजस्थान प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि हम लोग भरतपुर के आदिबद्री मंदिर और मथुरा के मान मंदिर दर्शन करके आए हैं। कई साधु-संतों से मिले। उन्होंने मुख्यमंत्री और गृहमंत्री को भी पत्र भेजा है। उन्होंने बहुत सारे पत्र भेजे हैं। यह पूरा अवैध खनन राजस्थान सरकार के संरक्षण में हो रहा था। माफियाओं की खुली लूट थी। राजस्थान सरकार के मंत्री की इसमें डायरेक्ट मिलीभगत है। अधिकारियों की मिलीभगत है। इसलिए मांग रखी है इसकी जांच CBI से होनी चाहिए।

CBI और NGT कार्रवाई होनी चाहिए

अरुण सिंह ने कहा राजस्थान सरकार निष्पक्ष जांच नहीं कर सकती। इसलिए साधु-संतों की मांग का बीजेपी भी समर्थन करती है। CBI जांच होनी ही होनी चाहिए। बहुत सारे वीडियो भी बाहर घूम रहे हैं। जिसमें मंत्रियों को किस तरह पैसा देना है यह चल रहा है। अरूण सिंह ने कहा- धार्मिक स्थल और पूजा योग्य आदिबद्री और कनकांचल पर्वत ब्रज चौरासी कोस परिक्रमा में आता है। इसमें किसी तरह की छेड़छाड़ और माइनिंग नहीं होनी चाहिए। पर्यावरण की दृष्टि से इनका तुरंत बचाव करना चाहिए। NGT को भी इस मामले में कार्रवाई करनी चाहिए। CBI को कार्रवाई करके दोषियों को सजा दिलानी चाहिए। साधु विजयदासजी महाराज का बलिदान व्यर्थ नहीं जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here