नेट-थियेट पर भरतनाट्यम नृत्य के भाव, लय एवं माधुर्य की मनोहारी प्रस्तुति

0
78
भरतनाट्यम

जयपुर। नेट-थियेट कार्यक्रमों की श्रृंखला में आज जयपुर की भरतनाट्यम की उभरती युवा कलाकार दामिनी खुशी शर्मा ने भाव, संगीत, लय के साथ भरतनाट्यम नृत्य को अभिव्यक्त कर नृत्य मुद्राओं को प्रदर्शित किया। नेट-थियेट के राजेन्द्र शर्मा राजू ने बताया कि भरतनाट्यम दक्षिण भारत के तामिलनाडू राज्य में उत्पन्न हुआ, यह भारतीय शास्त्रीय नृत्यों में प्रसिद्ध नृत्य है। कहा जाता जाता है कि यह 2000 वर्ष पुराना शास्त्रीय नृत्य है। यह भरत मुनि के नाट्यशास्त्र पर आधारित नृत्य है।

भरतनाट्यम

यह नृत्य भावम् से भ, रागम् से र और तालम् से त इसलिये यह भरतनाट्यम नाम से अस्तित्व में आया। कलाकार खुशी शर्मा ने अपने नृत्य में मुद्रा, अभिनय और पदम (कथा नृत्य) की भावपूर्ण प्रस्तुति से दर्शकों को मंत्र मुग्ध किया। खुशी के नृत्य में हाथ, आंख व पद संचालन आकर्षक और भाव भंगिमा पूर्ण रहा। कार्यक्रम का संचालन रमेश पुरोहित ने किया। कैमरा संचालन जितेन्द्र शर्मा, प्रकाश मनोज स्वामी, मंच सज्जा घृति शर्मा, सौरभ कुमावत, अंकित शर्मा नोनू और जीवितेष शर्मा का रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here