ग्राम पंचायत, पंचायत समिति एवं जिला परिषद की बैठकों में विकास कार्यों का अनुमोदन के बाद ही कार्य की स्वीकृति जारी की जाए- मीना

  • जयपुर, चूरू एवं पाली जिले के विकास कार्यों की जांच थर्ड पार्टी से कराई जाए
  • जल ग्रहण विकास एवं भू संरक्षण विभाग की समीक्षा बैठक

0
76
मीना

जयपुर। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री रमेश चन्द मीना ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभाग के माध्यम से करवाए जाने वाले सभी कार्यों का ग्राम पंचायत, पंचायत समिति एवं जिला परिषद की साधारण सभा की बैठकों में अनुमोदन करवाया जाना आवश्यक है तथा अनुमोदन के बाद ही विकास कार्यों की स्वीकृति जारी की जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये है कि विकास कार्यों के सत्यापन के बाद ही भुगतान की कार्यवाही की जाए एवं इसके लिए विभाग स्तर पर एक सेल का भी गठन किया जाए। इस मौके पर मीना ने जयपुर, चूरू एवं पाली जिले में जल ग्रहण विकास एवं भू संरक्षण के करवाए गए विभिन्न निर्माण कार्यों की निष्पक्ष जांच किसी थर्ड पार्टी से करवाने के निर्देश दिए।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री बुधवार को यहां इंदिरा गांधी पंचायती राज एवं ग्रामीण संस्थान में आयोजित बैठक में योजना के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी जल संचय योजना का मुख्य उद्देश्य भूजल स्तर में वृद्धि एवं जल संगठन के ढांचे तैयार करना है इसलिए इस योजना के माध्यम से ऎसे कार्य किए जाएं जो आमजन के लिए उपयोगी हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि योजना के माध्यम से ऎसे कार्य करवाए जाए जिससे किसानों की आय में वृद्धि हो सके तथा बंजर भूमि को उपजाऊ बनाया जा सके। उन्होंने सतही पानी को रोकने, विलुप्त नदियों को पुनर्जीवित करने एवं जोहड़, बावड़ी नालों तथा तालाबों के लिए एक प्रभावी कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए।

मीना

मीना ने डूंगरपुर जिले में राजीव गांधी जल संचय योजना के प्रथम चरण में करवाए गए निर्माण कार्यों का भौतिक सत्यापन थर्ड पार्टी से करवाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि पाली जिले के 1 हजार 235 कार्यों का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, लेकिन अभी तक केवल 100 कार्यों का ही निरीक्षण किया गया है जिनमें 44 कार्यों में कमियां पाई गई, इस पर मीना ने संबंधित अधिकारियों के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी जल संचय योजना एवं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत करवाए जाने वाले कार्य गुणवत्ता पूर्ण होने चाहिए जिससे आमजन में अच्छा संदेश जाए एवं इन कार्यों का सदुपयोग हो सके।

ग्रामीण विकास मंत्री ने राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत करवाए जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए कम प्रगति वाले जिलों को आगामी दिनों में अच्छा कार्य करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की प्रमुख शासन सचिव अपर्णा अरोरा, पंचायती राज विभाग के शासन सचिव पीसी किशन, जल ग्रहण विकास एवं भू संरक्षण विभाग के निदेशक आशीष गुप्ता सहित विभागीय अधिकारी गण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here