राजस्थान यूनिवर्सिटी में छात्रनेता ने चाकू से काटी हथेली, यूनिवर्सिटी प्रशासन बोला- कार्रवाई करेंगे

0
222
यूनिवर्सिटी

जयपुर : छात्रसंघ चुनाव में जीत हासिल करने के लिए छात्र नेता हर तरह के हथकंडे अपनाते हैं। चुनाव जीतने के लिए वे कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। जोश ऐसा कि स्टूडेंट्स की समस्याओं का हल कराने के लिए हथियार से खुद पर भी वार कर लेते हैं। ऐसा ही मामला बुधवार को राजस्थान यूनिवर्सिटी कैंपस में देखने को मिला। यहां छात्रसंघ चुनाव में भाग्य आजमा रहे एक छात्र नेता ने अपने समर्थकों के साथ कैंपस में रैली निकाली। रैली लाइब्रेरी के पास पहुंची तो छात्र नेता ने सभा की। वहां सभा को संबोधित करते हुए स्टूडेंट के सामने ही उसने चाकू से हथेली काे काट लिया। खून निकलता देख छात्र उसे उकसाते रहे। पुलिस और अफसर देखते रहे। किसी ने भी उसे रोकने की कोशिश नहीं की।

दरअसल, छात्र नेता लोकेंद्र सिंह बुधवार को अपने समर्थकों के साथ छात्राओं को निशुल्क शिक्षा दिलाने, जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग में स्थाई फैकल्टी लगाने, NSS का आरक्षण कोटा बढ़ाने, NCC का पूरा खर्च सरकार की ओर से उठाने के साथ ही बदहाल यूनिवर्सिटी कैंपस को दुरुस्त करने की मांग को लेकर रैली निकाल प्रदर्शन कर रहा था। रैली के दौरान यूनिवर्सिटी कैंपस में ही लोकेंद्र ने छात्रों को संबोधित करते हुए चाकू से अपनी हथेली पर कट मारकर यूनिवर्सिटी प्रशासन पर आरोप लगाने लगा। पुलिस और यूनिवर्सिटी के अफसरों ने छात्रनेता को रोका नहीं।छात्र नारेबाजी कर लोकेंद्र को उकसाते रहे, जिसकी वजह से उसका काफी खून बह गया। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम के बाद लोकेंद्र को प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

यूनिवर्सिटी

छात्रों के लिए खून बहाने से भी पीछे नहीं हटूंगा

लोकेंद्र ने कहा कि मैंने कई बार छात्र शक्ति की मांग को लेकर सरकार को खून से पत्र लिखा है। कई बार लोगों के लिए अपना खून डोनेट भी किया है। जब चुनाव आते हैं तो पूंजीवादी, नेता और जातिवाद के आधार पर लोग वोट मांगते हैं। इसलिए आज मैंने अपना खून बहाकर यह साबित किया कि मैं आगे भी छात्रों के लिए खून बहाने से पीछे नहीं हटूंगा।

छात्रनेता के खिलाफ होगी कार्रवाई

ADSW विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि अचानक इस पूरे घटनाक्रम को अंजाम दे दिया, जो नियमों के खिलाफ है। छात्र की हरकत से बड़ी अनहोनी हो सकती थी। ऐसे में छात्र के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। मौके पर तैनात गांधीनगर पुलिस के अधिकारियों के अनुसार यूनिवर्सिटी के मुख्य गेट पर धरना चल रहा था। जहां सरकार के दो मंत्री आए थे। कुछ देर के लिए अधिकारी वहां गए, लेकिन इसी वक्त का फायदा उठाकर छात्र नेता की ओर से हथेली काट ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here