SOG ने पाराशर को उठाया, आरटेट में भी थे कोऑर्डिनेटर

REET

जयपुर: REET पेपर लीक मामले में एसओजी ने शिक्षा संकुल में कोऑर्डिनेटर रहे प्रदीप पाराशर को पूछताछ के लिए उठा लिया है। इस प्रकरण में शामिल अभ्यर्थियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। ऐसे अभ्यर्थियों का रिजल्ट रद्द कर अयोग्य घोषित किया जा सकता है। जारौली को बर्खास्त और सचिव को निलंबित कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि एसओजी प्रदीप पाराशर को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर सकती है।

एसओजी एडीजी अशोक राठौड़ ने बताया कि प्रदीप पाराशर को पूछताछ के लिए एसओजी हेड क्वार्टर लेकर आए हैं। शिक्षा संकुल से प्रदीप पाराशर ने ही पेपर रामकृपाल मीणा और उदाराम को दिया था। प्रदीप पाराशर को REET की परीक्षा में कोऑर्डिनेटर बनाया गया था। रामकृपाल मीणा स्कूल संचालक था। बताया जा रहा है कि रामकृपाल को भी सह कोऑर्डिनेटर बनाया गया था। यहां से पेपर भजनलाल, पृथ्वीलाल मीणा सहित नकल गिरोह तक पहुंचाया गया था।

आरटेट परीक्षा में भी कोऑर्डिनेटर थे पाराशर

प्रदीप पाराशर को 2011 और 2012 में कांग्रेस सरकार में भी आरटेट परीक्षा में कोऑर्डिनेटर बनाया गया था। तब बोर्ड चेयरमैन मंत्री सुभाष गर्ग थे। प्रदीप पाराशर मंत्री सुभाष गर्ग और बोर्ड अध्यक्ष डीपी जारौली का करीबी दोस्त है। ऐसे में प्रदीप पाराशर को शिक्षा संकुल में कोऑर्डिनेटर बनाया गया था। उसके साथ ही चार कोऑर्डिनेटर भी थे। प्रदीप पाराशर से पूछताछ के बाद उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *