श्री हिंदी साहित्य समिति से जुड़े सदस्य हुए सक्रिय, समिति को बचाने की रणनीति पर विचार

- 11 सदस्य कोर कमेटी का किया गठन

0
431

भरतपुर। श्री हिन्दी साहित्य समिति भरतपुर सभागार में समिति के अस्तित्व को बचाने के लिए बैठक का आयोजन श्री हिन्दी साहित्य समिति के अध्यक्ष मोहनवल्लभ शर्मा की अध्यक्षता में किया गया। बैठक में कांग्रेस नेता धर्मेन्द्र शर्मा विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में उपस्थित रहे। समिति के उपाध्यक्ष गंगाराम पाराशर ने समिति की नीलामी के प्रकरण की जानकारी देते हुए सम्बंधित दस्तावेजों को पढ़ कर बैठक में उपस्थित लोगों को सुनाया और कहा कि यहाँ बैठा हर व्यक्ति यदि ये संकल्प कर ले कि समिति नीलाम नही होगी तो यकीन मानिए हम संस्था को बचा लेंगे।

संस्था के वरिष्ठ सदस्य रामबाबू शुक्ल ने कहा यदि ये संस्था नीलाम होगी तो इसमें रखे साहित्य का क्या होगा ये अनमोल धरोहर रद्दी हो जाएगी। बैठक का संचालन श्याम सिंह जघीना ने किया। अशोक धाकरे, सौरभ फौजदार, बृजेश कौशिक, अनिल भारद्वाज, यादराम सिंह, राजवीर सिंह, नरेश, इन्द्रजीत भारद्वाज, देवेंद्र कुमार शर्मा, गोविंद डागुर, मनीष उपाध्याय, नरेंद्र निर्मल ने भी अपने विचार रखे। सभी वक्ताओं का एक मत था कि संस्था को नीलामी से बचाने के लिए सरकार से अनुदान की माँग करें एवं जनांदोलन कर समिति को बचाने का प्रयास करें। बैठक के अंत मे 11 सदस्यों की कोर कमेटी का गठन किया गया।

इसमें सर्वसम्मति से गंगाराम पाराशर को कोर कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया। अशोक धाकरे, बृजेश कौशिक, इन्द्रजीत भारद्वाज, श्याम सिंह जघीना, इन्दुशेखर शर्मा, देवाशीष भारद्वाज, सौरभ सिंह, देवेंद्र शर्मा, गोविंद डागुर, मनीष उपाध्याय कोर कमेटी का सदस्य नियुक्त किया। बैठक में मनोज पोद्दार, दिनेश उपाध्याय, डॉ. शिव कुमार, तेज सिंह मीणा, श्रीराम चंदेला, जगराम धाकड़, अविनाश सोनी, राजीव चौधरी, सी. एस कृष्णा, रेणुदीप गौड़, रविन्द्र मोहन शर्मा,नेत्रकमल मुदगल, विनोद कुमार तिवारी, गोविंद शर्मा, अमर सिंह विधरोहि, रवि शर्मा, संजय कुमार शर्मा, वैभव उपमन, अभयवीर सिंह चौधरी आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here