हाथ उठाकर ली जीवन में नशा नहीं करने की शपथ

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर राजधानी में हुए विविध आयोजन

0
221
हाथ उठाकर ली जीवन में नशा नहीं करने की शपथ

जयपुर: विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर मंगलवार, 31 मई को राजधानी में विविध आयोजन हुए। सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों को नशा नहीं करने की शपथ दिलाई गई। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार की ओर से कई स्थानों पर नशा मुक्ति रैली, संगोष्ठी, सद्बुद्धि यज्ञ, हस्ताक्षर अभियान, नुक्कड़ नाटक सहित अनेक कार्यक्रम आयोजित कर लोगों को तंबाकू और तंबाकू जनित उत्पादों के दुष्प्रभाव बताते हुए इन्हें छोडऩे का आह्वान किया गया। नशा मुक्ति विशेषज्ञों ने तंबाकू उत्पादों से होने वाले रोगों की भयवहता समझाई। कई स्थानों पर तंबाकू से होने वाले नुकसान बताने वाली चित्र प्रदर्शनी भी लगाई गई। नशा छोडऩे में सहायक दवाओं का भी वितरण किया गया।

गायत्री परिवार के नशा मुक्ति आंदोलन के अंतर्गत चांदपोल स्थित पुलिस लाइन में नशा मुक्ति आंदोलन के प्रांतीय प्रभारी बहादुर सिंह और सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी के पी सिंह ने पुलिस कर्मियों को नशा नहीं करने की शपथ दिलाई। गायत्री परिवार और इंडियन डेंटल एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में नशा मुक्ति का एक कार्यक्रम सेंट्रल जेल में भी हुआ। डॉ. प्रशांत भारद्वाज ने पोस्टर के माध्यम से कैदियों को नशे के दुष्प्रावों से अवगत करवाते हुए नशे की लत छोडऩे का आह्वान किया।

नशा मुक्ति रैली निकाली:

गायत्री चेतना केन्द्र कुंभा मार्ग प्रतापनगर की ओर से प्रतापनगर के सेक्टर 9 के रैगर मोहल्ला से व्यसन मुक्ति रैली निकाली गई। रैली में बड़ी संख्या में बच्चे
नशा छोड़ो जीवन मोड़ो, नशा नाश का दूजा नाम तन मन धन तीनों बेकाम, गांजा भांग शराब तंबाकू तन-मन के ये सब डाकू जैसे नारे लगाते हुए चल रहे थे। बच्चों ने हाथ में नशा मुक्ति के स्लोगन लिखी तख्तियां भी थाम रखी थी। रेणु भट्ट, ममता बंसल, विजेन्द्र कुमार शर्मा, विनोद कुमार छीपा की अगुवाई में व्यसन मुक्ति रैली शीतला माता मार्ग, बाबा रामदेव जी मंदिर सहित विभिन्न मार्गों से गुजरी। रामकरण पांचाल, अनिल पाराशर ने सभी तरह के नशे छोडऩे का आह्वान किया।

विशेषज्ञों ने बताए तंबाकू के नुकसान:

वहीं, अखिल विश्व गायत्री परिवार की युवा इकाई दिव्य युवा भारत संघ, गायत्री चेतना केंद्र सहित प्रमुख समाजसेवी संस्थाओं के संयुक्त तत्वावधान में जवाहर सर्किल पर सुबह विचार गोष्ठी आयोजित की गई। मनोचिकित्सक और नशा मुक्ति विशेषज्ञ डॉ. यू एस चौहान ने कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रूप में तंबाकू से होने वाले नुकसान और रोगों से उपस्थित लोगों को अगवत कराया। इस मौके पर लोगों को व्यसन मुक्ति संकल्प कराया गया। लोगों ने सद्बुद्धि यज्ञ में आहुतियां भी अर्पित की। व्यसन मुक्ति प्रदर्शनी आकर्षण का केन्द्र रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here