केमिकल टैंकर ने स्टेट हाईवे-20 पर कार को मारी भीषण टक्कर, 4 युवक की मौत

0
130
मौत

सुजानगढ़ (चूरू) : चूरू के सुजानगढ़ में रविवार सुबह करीब सात बजे बेकाबू स्पीड से दौड़ रहे केमिकल टैंकर ने स्टेट हाईवे-20 पर कार को भीषण टक्कर मार दी। हादसे में 4 युवकों की दर्दनाक मौत हो गई। एक्सीडेंट इतना भीषण था कि कार का अगला हिस्सा खत्म हो गया। पुलिस ने बताया कि टैंकर कार को करीब 25 फीट तक अपने साथ घसीटता ले गया। हादसे की सूचना मिलते ही हाईवे पेट्रोलिंग टीम और सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को राजकीय बगड़िया उप-जिला अस्पताल भिजवाया।

पुलिस ने बताया कि प्रॉपर्टी व्यवसाय से जुड़े रविदास (37) पुत्र भंवरलाल वैष्णव, वासुदेव (25) पुत्र श्यामलाल वैष्णव, अमित (25) पुत्र ललित कुम्हार और संजय कुमार सालासर बालाजी के दर्शन कर जोधपुर लौट रहे थे। इस दौरान बोबासर पुलिया के पास लाडनूं की ओर से आ रहे केमिकल से भरे टैंकर ने कार को टक्कर मार दी। हादसे के बाद टैंकर कार को करीब 25 फीट तक घसीटते हुए ले गया। हादसे में चारों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। घटनास्थल पर पहुंचे सदर थाने के सब इंस्पेक्टर नारायण राम ने शवों को अस्पताल भिजवाने के बाद क्षतिग्रस्त दोनों वाहनों को मौके से हटवाया और ट्रैफिक सुचारू करवाया। घटना की सूचना पर एसडीएम मूलचन्द लूणिया अस्पताल पहुंचे।

हादसे में मृतक वासुदेव पुत्र श्यामलाल वैष्णव और रविदास पुत्र भंवरलाल वैष्णव साला-जीजा है। वासुदेव की बहन डिंपल की शादी रविदास से हो रखी थी। दोनों के एक-एक बेटी है। वासुदेव के परिवार में अब मां, पत्नी और बेटी ही बचे हैं। वासुदेव पावटा सैटेलाइट अस्पताल में ठेका कर्मचारी था। वासुदेव की मां वहां पर स्थाई कर्मचारी है। पिता के निधन के बाद मां को नौकरी मिली थी। रविदास प्रॉपर्टी का काम करता था। दोनों के परिवार माता का थान क्षेत्र में रहते हैं।

लोगों ने कलेक्टर के सामने जताई नाराजगी

हादसे के बाद कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग और एसपी दिगंत आनंद ने बोबासर पुलिया पहुंचकर मौका देखा और फिर बगड़िया हॉस्पिटल पहुंचे। जोधपुर से आए मृतकों के परिजनों ने बताया कि चारों युवक अपने घर के कमाने वाले युवा थे। इस पर कलेक्टर ने हरसंभव मदद दिलाने का आश्वासन दिया। इस दौरान मौजूद लोगों ने कलेक्टर को बोबासर पुलिया के खतरनाक एक्सीडेंट जोन बनने की शिकायत की।

लोगों ने नाराजगी जताते हुए कहा कि पुलिया के पास डिवाइडर नहीं है और न ही एक्सीडेंट जोन का साइन बोर्ड लगा है। बोबासर पुलिया के आसपास आरटीओ का दस्ता खड़ा रहता है, जिसके चलते ट्रक ड्राइवर स्पीड से भगाते हैं। इस पर कलेक्टर ने जल्दी ही डिवाइडर बनवाने और आरटीओ अधिकारियों की चेक पोस्ट को दूर करने और चेतावनी साइन बोर्ड लगवाने का आश्वासन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here