पुजारी के शव को लेकर जयपुर के सिविल लाइंस फाटक पर प्रदर्शन

0
685
  • पुलिस को चकमा देकर गुपचुप में किरोड़ी शव जयपुर लाए
  • छह दिन से शव का नहीं हुआ अंतिम संस्कार

जयपुर। दौसा जिले के महुआ के पास टीकरी गांव में मंदिर की जमीन हड़पने से पुजारी की मौत के मामले में बवाल बढ़ गया है। छह दिन से महुआ में पुजारी का शव रखकर दिया जा रहा धरना अब जयपुर पहुंच गया है। भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा पुजारी के शव को गुपचुप तरीके से लेकर रात मेंं महवा से जयपुर पहुंच गए। पुलिस प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगने दी। भाजपा नेता राजधानी के सिविल लाइंस फाटक पर पुजारी का शव रखकर प्रदर्शन कर रहे हैं। भाजपा नेताओं ने मांगें माने जाने तक प्रदर्शन जारी रखने की चेतावनी दी है। जयपुुर के धरने में भाजपा के अलावा ब्राह्मणों के विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी भी शामिल है।

महवा में धरना दे रहे थे किरोड़ी मीणा, अब जयपुर शिफ्ट
टीकरी गांव के पुजारी की मौत के बाद भू-माफियाओं पर कार्रवाई सहित कई मांगों को लेकर राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा समर्थकों के साथ महुआ में धरने पर बैठे थे। अब महुआ का धरना जयपुर शिफ्ट हो गया है। किरोड़ीलाल मीणा महुआ के धरना स्थल से देर रात को ही शव गुपचुप तरीके से लेकर जयुपर आ गए। दौसा के पुलिस प्रशासन को इसकी खबर तक नहीं लगी। पुलिस प्रशासन को तो तब पता लगा जब भाजपा नेता पुजारी का शव लेकर सिविल लाइंस फाटक पहुंच गए।

पुजारी का शव जयपुर ले जाने के बाद महुआ में पुलिस लाठीचार्ज
महुआ धरना स्थल पर दोपहर को पुलिस ने लाठीचार्ज कर धरना दे रहे लोगों को हटा दिया। पुलिस ने टेंट को भी तहस नहस कर दिया। मृतक पुजारी को न्याय की मांग को लेकर 6 दिन से महुआ थाने के बाहर धरना दिया जा रहा था। पिछले छह दिन से थाने के बाहर शव रख धरना चल रहा था। थाने के सामने से पुजारी का शव जयुपर शिफ्ट हो गया, उसके बाद दोपहर को पुलिस ने लाठीचार्ज किया। प्रतयक्षदर्शियों के मुताबिक पुलिस ने अचानक धरनास्थल पर लाठीचार्ज किया जबकि वहां सब शांति से धरना दे रहे थे।

भाजपा नेताओं ने सरकार को दी चेतावनी
जयपुर से भाजपा सांसद रामचरण बोहरा और भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि राजस्थान में पुजारियों की हत्या हो रही है। मंदिर की जमीनों पर कब्जे हो रहे हैं। लेकिन सरकार को कोई परवाह ही नहीं है। हमारी मांगें माने जाने तक धरना जारी रहेगा। दौसा जिले के टीकरी गांव में मूक बधिर पुजारी की मंदिर की 26 बीघा जमीन की भू-माफियाओं ने रजिस्ट्री करवा ली। आरोप है कि सब रजिस्ट्रार से लेकर पूरा प्रशासन भू-माफियाओं से मिला हुआ था। धोखाधड़ी से जमीन की रजिस्ट्री के बाद पहले से बीमार चल रहे पुजारी की तबीयत और बिगड़ी। ज्यादा तबीयत बिगडऩे पर उसे 29 मार्च को महुआ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया था। प्राथमिक उपचार के बाद उसे 30 मार्च को गंभीर अवस्था में जयपुर रेफर किया गया था। 2 अप्रैल को जयपुर के एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

न्याय की लड़ाई में विफा साथ
विप्र फाउंडेशन ने महुआ के शम्भू शर्मा प्रकरण को लेकर सिविल लाइन्स फाटक पर दिए जा रहे धरने प्रदर्शन को न्याय की लड़ाई बताते हुए पीडि़त परिवार को न्याय नहीं मिलने तक पूरा साथ देने की घोषणा की हैं। विफा राजस्थान जोन 1 के प्रदेशाध्यक्ष राजेश कर्नल ने विफा की तरफ से समर्थन जताते हुए अपने पदाधिकारियों के साथ धरने और प्रदर्शन में भाग लिया। कर्नल के साथ धरने में संस्था के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच, महामंत्री सतीश शर्मा, अजय पारीक, मंत्री सुशील शर्मा व पवन शर्मा, विफा जोन 1 डी के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित सुभाष शर्मा, जयपुर हेरिटेज के शिव मोहन शर्मा, जयपुर ग्रेटर के जिलाध्यक्ष नवीन तिवाड़ी तथा शव के साथ महुआ से आये विफा पदाधिकारी शामिल थे। इस बीच इसी प्रकरण को लेकर विफा की ओर से जिला एवं एसडीएम स्टार पर आज भी मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिए गए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here