ऊषा शर्मा ने राजस्थान के मुख्य सचिव का पदभार संभाला

0
1974

जयपुर। राज्य सरकार की ओर से नवनियुक्त मुख्य सचिव ऊषा शर्मा ने आज शाम पदभार ग्रहण कर लिया। उन्हें निवर्तमान मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने मुख्य सचिव का कार्यभार सौंपा। ऊषा शर्मा प्रदेश की दूसरी महिला मुख्य सचिव बनी है। वह अपने पद के साथ राज्य खान एवं खनिज निगम लिमिटेड की अध्यक्ष का अतिरिक्त कार्यभार भी संभालेंगी। ऊषा शर्मा आज ही दिल्ली से रिलीव होकर जयपुर आई है। वे दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर खेल एवं युवा मंत्रालय के सचिव पद पर कार्यरत थी। ऊषा शर्मा के कार्यभार संभालते ही उन्हें बधाई देने का सिलसिला शुरू हो गया। कई बड़े अधिकारी उन्हें बधाई देने पहुंचे।

ये बोली नई सीएस

राज्य सरकार की विकास, कानून व्यवस्था तथा अन्य प्राथमिकता के मद्देनजर वे काम करेगी। दिल्ली में रहते हुए वे कभी दूर नहीं रही। पधारो म्हारो देश के स्लोगन का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यहां आने वाले हर किसी का वेलकम करेंगे ताकि ज्यादा से ज्यादा निवेश आ सके। महिला सीएस बनाये जाने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार प्रकट करते हुए कहा कि महिला उत्थान के कार्यक्रमो को क्रियान्वित का विशेष प्रयास करेगी। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगे इस पर भी उनकी पूरी नजर रहेगी।

जानिए कौन है ऊषा शर्मा

ऊषा शर्मा ने प्रशासनिक सेवाओं में अपनी शुरुआत अलवर एसडीएम के रूप में 1989 में शुरू की थी। इसके साथ ही वे अलवर नगरपालिका में प्रशासक, जयपुर में उद्योग विभाग में उपसचिव, शिक्षा विभाग मेेंं उपसचिव रहने के बाद उन्हें 1994 में पहली बार बूंदी का जिला कलेक्टर बनाया गया था। एडल्ट एजुकेशन विभाग में डायरेक्टर, इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड में सचिव के पद पर कार्यरत रहने के बाद में 1999 में अजमेर की जिला कलेक्टर बनी। 2001 में जयपुर आ गई और यहां कॉपरेटिव सोसायटी की रजिस्ट्रार बनी। वर्ष 2003 से 2004 तक जेडीए कमिश्नर के रूप में भी कार्य किया। राजेगार विभाग, शहरी विकास में सचिव के पद पर भी कार्य किया। उषा शर्मा विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी की रिश्तेदार हैं। उषा शर्मा के पति बीएन शर्मा रिटायर्ड आईएएस हैं। वे भी केंद्र-राज्य में वरिष्ठ पदों पर रहे हैं। बीएन शर्मा अभी राजस्थान इलेक्ट्रिसिटी रेग्युलेटरी कमीशन के चेयरमैन हैं।

2005 में उन्हें स्पिन फैड और राजस्थान हैण्डलूम डवलमपेंट कॉरपोरेशन की चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर बनाया गया। मई 2006 से अप्रेल 2007 तक उद्योग विभाग में आयुक्त रही। उसके बाद पर्यटन की आयुक्त लम्बे समय तक रही। इसी विभाग में रहते हुए उन्होंने प्रमुख शासन सचिव के रूप में भी कार्य किया। मई 2012 में प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली चली गई जहां एडिशनल डायरेक्टर जनरल टूरिज्म का कार्यभार संभाला। दिल्ली में रहते हुए ही प्रशासनिक सुधार विभाग में अतिरिक्त सचिव के पद पर कार्य किया। ऑर्कलोजिकिल सर्वे ऑफ इंडिया में डायरेक्टर जनरल पद पर भी कार्य किया। बीएससी ऑनर्स तक शिक्षा प्राप्त श्रीमती ऊषा शर्मा का 26 जून 1963 को जन्म हुआ। इस हिसाब से उनका कार्यकाल जून 2023 तक का है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here