ERCP मामले को लेकर सांसद किरोड़ीलाल मीणा का जयपुर कूच स्थगित, दो दिन में सर्वदलीय कमेटी बनेगी

- किरोड़ी बोले- एक क्या, हजार गहलोत भी ERCP को अकेले पूरा नहीं कर सकते

0
271
मीणा

जयपुर : राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा के नेतृत्व में सैकड़ों लोगों का काफिला मंगलवार शाम करीब 4 बजे जयपुर के लिए कूच किया। मीणा का यह आंदोलन पूर्वी राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट (ERCP) को लेकर है। पूर्वी राजस्थान के 13 जिलों में चल रहे पानी संकट को खत्म कराने का बीड़ा उठाया है। उन्होंने ERCP की डीपीआर संशोधित कर केंद्र सरकार को भेजने की मांग गहलोत सरकार से की है। साथ ही, दौसा और आसपास के जिलों के बांधों को योजना में जुड़वाने की मांग कर रहे हैं। उधर, देर शाम प्रभारी मंत्री के साथ हुई बैठक के बाद डॉ. मीणा ने जयपुर कूच का प्रोग्राम स्थगित कर दिया है।

मीणा

वार्ता के बाद जयपुर कूच स्थगित

प्रभारी मंत्री विश्वेंद्र सिंह के साथ डॉ. मीणा व भाजपा नेताओं की वार्ता हुई। तय हुआ कि 48 घंटे में राज्य सरकार एक सर्वदलीय कमेटी गठित करेगी। यह कमेटी वार्ता के लिए केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय व जल आयोग जाकर परियोजना की कमियों के बारे में जानकारी लेगी और राज्य सरकार को अवगत कराएगी।

मीणा

जयपुर कूच के ऐलान के बाद छावनी में तब्दील हुआ इलाका

शाम करीब 4 बजे डॉ. मीणा ने जयपुर कूच का ऐलान किया। राठौड़, चतुर्वेदी, गोलमा व डॉ. किरोड़ीलाल अपनी-अपनी गाड़ियों से निकले। उनके साथ ट्रैक्टरों, बाइकों वे निजी वाहनों में लोगों का समूह हाथों में तिरंगे लेकर चला। करीब 1 घंटे बाद दौसा बाईपास होते हुए कारवां शाम 5 बजे जयपुर-आगरा हाईवे पर आ गया। जटवाड़ा (जयपुर से 40 किमी दूर) में पुलिस ने बैरिकेड लगाकर काफिले को रोक दिया। शाम 5 बजे से 6 बजे तक यहां काफी संख्या में आंदोलनकारी रुके रहे। लोग नारेबाजी करते रहे। डॉ. मीणा सहित अन्य नेता वहीं धरने पर बैठ गए।

मीणा

जटवाड़ा में करीब एक हजार पुलिसकर्मी, वज्र वाहन, आरएसी, रैपिड एक्शन फोर्स, स्पेशल टास्क फोर्स तैनात की गई है। यहां आईजी उमेश दत्ता, एडीजी विजिलेंस बीजू जॉर्ज जोसेफ पहले से मौजूद थे। संभागीय आयुक्त विकास सीताराम भाले, एसपी दौसा संजीव नयन व दौसा जिला कलेक्टर कमर चौधरी भी मोर्चा संभाले हुए हैं।

प्रभारी मंत्री पहुंचे

प्रभारी मंत्री विश्वेंद्र सिंह शाम 6 बजे सांसद किरोड़ीलाल मीणा, उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, बीजेपी नेता अरुण चतुर्वेदी के साथ वार्ता के लिए जटवाड़ा स्थित लक्ष्मी निवास होटल पहुंचे। इस बीच जटवाड़ा में पुलिस व आंदोलनकारियों के बीच गहमागहमी भी हुई।

मीणा

हजार गहलोत भी ERCP को पूरा नहीं कर सकते

डॉ. किरोड़ी मीणा ने मुख्यमंत्री को चुनौती देते हुए कहा- ERCP को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राजनीति कर रहे हैं। ERCP कुल 37 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट है। गहलोत 10 हजार करोड़ देकर कह रहे हैं कि राज्य सरकार परियोजना पूरी करेगी। मैं सीएम गहलोत से कहना चाहता हूं कि हजार गहलोत भी ERCP की परियोजना को इस तरह पूरा नहीं कर सकते। गहलोत का खजाना खाली हो चुका है। राज्य सरकार ने अगर ERCP प्रोजेक्ट बनाया तो किसानों को पूरा पानी नहीं मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here