माइनिंग, ऑयल और गैस कॉन्क्लेव कल, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत करेंगे उद्घाटन

- तकनीकी सत्रों में विशेषज्ञ करेंगे मंथन

0
57
माइनिंग

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार को माइनिंग, ऑयल और गैस कॉन्क्लेव का उद्घाटन करेंगे। जयपुर के होटल मैरियट में प्रातः 9.45 बजे से आयोजित माइनिंग कॉन्क्लेव के उद्घाटन सत्र में खान व गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया, राजस्व मंत्री राम लाल जाट गस्ट ऑफ ऑनर होंगे। कॉन्क्लेव के उद्घाटन सत्र में मुख्य सचिव उषा शर्मा कोलंबिया की राजदूत मारियाना पाचेको मोंटेस और आस्ट्रिया के ट्रेड कमिश्नर एवं कमर्शिअल काउंसलर हैंस जाएर्ग होर्टनाग्ली सहित केन्द्र व राज्य सरकार व निजी क्षेत्र के विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे।

अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस, पेट्रोलियम एवं जलदाय डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य में पहलीबार इस तरह कॉन्क्लेव का अयोजन किया गया है। नेशनल कॉन्क्लेव में देश व प्रदेश में विपुल खनि संपदा के खोज, खनन कार्य में आधुनिकतम तकनीक के उपयोग पर मंथन किया जाएगा। साथ ही देश में खनिज खोज व खनन के वर्तमान सिनेरियों और भविष्य की संभावनाओं पर भी मंथन होगा। डॉ. सुबोध ने मंगलवार को सचिवालय में कॉन्क्लेव की तैयारियों को लेकर उच्च स्तरीय बैठक ली। जयपुर में आयोजित एक दिवसीय कॉन्क्लेव में छत्तीसगढ़, कर्नाटक, आसाम, झारखण्ड, जम्मू-कश्मीर, उड़ीसा, नागालैण्ड सहित कई प्रदेशों के वरिष्ठ अधिकारी, विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे, वहीं नीति आयोग, ऑयल इण्डिया, ओएनजीसी, हिन्दुस्तान कॉपर, गैल इण्डिया, आईओसी, बीपीसीएल, एमईसीएल, आईबीएम, स्टील ऑथोरिटी ऑफ इंडिया, एचपीसीएल, राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम टेक्नोलॉजी, सीडोस, प्राकृतिक एवं नेचुरल गैस आदि के विशेषज्ञ प्रतिनिधियों की इस कॉन्क्लेव में हिस्सा लेने की संभावना है।

इसके साथ ही माइनिंग, पेट्रोलियम व गैस क्षेत्र के एक्सप्लोरेशन और दोहन क्षेत्र में जुटे हुए निजी क्षेत्र के दिग्गजों को भी बुलाया जा रहा है। जियोलोजिकल सर्वें ऑफ इंडिया के प्रतिनिधि भी हिस्सा लेंगे। उन्होंने बताया कि तकनीकी सत्रों में लीडरशीप डिस्कशन: हाइड्रोकार्बन सिनेरियो- अवसर एवं चुनौतियां, ट्रेंड्स एण्ड आइडियाज इन माइंस एण्ड मिनरल सेक्टर, भारत और राजस्थान की खनिज संपदा एवं सामाजिक एवं आर्थिक विकास में इसके योगदान, सीमलेस गैस ड्रिस्ट्रीब्यूशन एण्ड पाइपलाईन नेटवर्क, मेजर मिनरल्स: एक्स्प्लोरेशन, प्रोडक्शन एण्ड मार्केटिंग विशेषज्ञों द्वारा मंथन किया जाएगा। बैठक मेें निदेशक माइंस केबी पण्ड्या, डीएस नीतू बारुपाल, अतिरिक्त निदेशक बीएस सोढ़ा, ओएसडी महावीर मीणा, एसएमई प्रताप मीणा, जय गुरुबख्सानी, एसएमई सतर्कता केसी गोयल, एमई भरतपुर आरएन मंगल, एसजी सुनील कुमार सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here