अलवर के प्रवीण के संग शिल्पा शेट्‌टी ने लगाए ठुमके, बादशाह ने काम करने का दिया ऑफर

0
892
अलवर के प्रवीण के संग शिल्पा शेट्‌टी ने लगाए ठुमके, बादशाह ने काम करने का दिया ऑफर

अलवर: जिले का प्रवीण इंडिया गॉट टैलेंट शो में शिल्पा शेट्‌टी संग ठुमके लगाकर जमकर छा गया। IGT शो में प्रवीण का डांस इतना अच्छा लगा कि मशहूर सिंगर बादशाह ने साथ काम करने का भी ऑफर दे दिया। दरअसल, अलवर शहर के प्रवीण ने शो के इंडिया गॉट टैलेंट शो के सीजन 9 में परफॉर्मेंस दी थी। प्रवीण ने शो में तलवार पर खड़े होकर और सिर पर मटके रखकर डांस किया तो जज हैरान हो गए। प्रवीण के यहां तक पहुंचने की कहानी भी काफी रोचक है। प्रवीण 12वीं कक्षा में पढ़ते हैं। पिता बनय सिंह प्रजापत से फोक डांस विरासत में मिला है। माता-पिता नहीं चाहते थे कि वह भी डांस करें, लेकिन प्रवीण ने चुपके-चुपके प्रैक्टिस करना शुरू कर दिया था।

प्रवीण ने बताया कि 10 साल की उम्र में जब पिता का डांस देखा और तालियां बजी तो मैंने भी सोचा की डांस करूंगा। घरवाले नहीं चाहते थे कि मैं डांस करूं। इसलिए रात में छत पर जाकर प्रैक्टिस करने लगा। रात को खाली गैस सिलेंडर को छत पर लेकर जाता और डांस की प्रैक्टिस करता था। प्रवीण ने बताया कि इसी प्रैक्टिस से इंडिया गॉट टैलेंट तक पहुंचा। अब सपना है कि फोक डांस को विदेश में भी पहचान दिलाई जाए।

अलवर के प्रवीण के संग शिल्पा शेट्‌टी ने लगाए ठुमके, बादशाह ने काम करने का दिया ऑफर

प्रवीण 8 गिलास पर करते हैं डांस
प्रवीण के पिता बनय सिंह सिर पर कांच के 3 गिलास रखकर डांस करते थे। प्रवीण घर पर ही प्रैक्टिस करते-करते 8 गिलास पर डांस करने लगे थे। जब पिता ने यह देखा तो उनको भी लगा कि इसमें प्रतिभा अधिक है। यह बेहतर कर सकता है। मां ने बताया कि पहले तो हम भी नहीं चाहते थे कि प्रवीण डांस में आगे बढ़े, लेकिन उसके अंदर धुन सवार थी।

शिल्पा शेट्‌टी ने साथ में किया डांस
प्रवीण ने जब सिर पर मटके, गिलास रख तलवार पर डांस किया तो शो के जज अपने आप को रोक नहीं पाए। शिल्पा शेट्‌टी ने स्टेज पर प्रवीण के साथ सिर पर मटका रख डांस किया। प्रवीण के भवई डांस पर जमकर तालियां बजी और तारीफ हुई।

अलवर के प्रवीण के संग शिल्पा शेट्‌टी ने लगाए ठुमके, बादशाह ने काम करने का दिया ऑफर

डांस के साथ साथ पढ़ाई में भी अव्वल
खास बात यह है कि प्रवीण को स्कूल में डांस के कारण सब जानते हैं। वह पढ़ाई में भी होशियार है। उसका कहना है कि जहां भी जाता हूं तो लोग पढ़ाई के बारे में पूछते हैं। इसलिए उसने तय कर लिया कि पढ़ाई भी बराबर करनी है। उसके साथ डांस को आगे बढ़ाना है। प्रवीण के पिता बनय सिंह 42 देशों में भवई नृत्य कर चुके हैं। पूरा एक कमरा अवाॅर्ड से भरा है। अब प्रवीण के अवाॅर्ड आने लग गए हैं। पिता को उम्मीद है कि उसका बेटा कई गुना आगे जाएगा। प्रवीण अब तक जय हो नेशनल अवाॅर्ड दिल्ली, अंतरराष्ट्रीय जश्न ए बचपन अवार्ड, श्री यादे रत्न सम्मान मेड़ता, प्रजापति प्रतिभावान सम्मान उदयपुर, श्री यादे महोत्सव पावटा जयपुर, राजस्थान यूनिवर्सिटी जयपुर, थिरक मुकाबला नेशनल फोक डांस में प्रथम रह चुके हैं।

प्रवीण के डांस की खासियत
– प्रवीण रिम भवई नृत्य करता हैं। जिसमें साइकिल की 5 रिंग एक बार रखकर डांस करता है।
– मटका भवई नृत्य में 10 कांच के गिलास सिर पर रखकर उनके ऊपर पानी से भरा मटका रख डांस करता है।
– चक्का भवाई डांस में सिर पर स्टील के दो गिलास और उनके ऊपर 52 किलो काचाक रखकर डांस करता है।
– ग्रामीण मटका भवई में गिलास के ऊपर 101 मटके रखकर डांस। कील व तलवार के ऊपर डांस करने में माहिर है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here