ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट मामला : गहलोत बोले- शेखावत वचन निभाकर लें संन्यास, केंद्रीय मंत्री का पलटवार- ERCP पर काम होगा, राजनीति करने की आदत छोड़नी होगी

0
187

जयपुर : ईस्टर्न राजस्थान कैनाल प्रोजेक्ट(ERCP) को लेकर अब मुख्यमंत्री ने अशोक गहलोत और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत आमने-सामने हो गए हैं। एक दिन पहले शेखावत ने ERCP को लेकर दावा किया था कि यदि अजमेर में पीएम नरेंद्र मोदी ने एक शब्द भी कहा होगा तो राजनीति से संन्यास ले लूंगा। अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वीडियो ट्वीट शेयर कर शेखावत से संन्यास लेने की मांग की है।

इसे मुद्दे पर दोनों के बीच ट्विटर वार छिड़ गया है। गहलोत ने 7 जुलाई 2018 को जयपुर की रैली में प्रधानमंत्री के ERCP से संबंधित भाषण और 6 अक्टूबर 2018 को अजमेर रैली में प्रधानमंत्री के भाषण का ERCP से संबंधित वक्तव्य शेयर किया और कहा कि गजेंद्र सिंह शेखावत जी आपकी तसल्ली के लिए… ठीक से सुनिए 2018 में ‘पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना’ (ERCP) पर प्रधानमंत्री मोदी के क्या शब्द थे? ‘पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना से 13 जिलों में सिंचाई और 40% आबादी को मीठा पानी मिलेगा, क्या ये भी झूठ और झांसा था?’

मैं वादे याद दिला रहा हूं- गहलोत

सीएम गहलोत ने लिखा कि जलशक्ति मंत्री का कहना है कि PM ने अजमेर की रैली में ERCP पर एक शब्द नहीं कहा, यदि कहा है तो वो राजनीति से संन्यास ले लेंगे। 7 जुलाई 2018 को जयपुर की रैली में प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में स्पष्ट तौर पर ERCP को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने पर सकारात्मक रुख रखने की बात की है। 6 अक्टूबर 2018 को अजमेर रैली में जयपुर का नाम लेकर अपने इस वादे को दोहराया है। गजेंद्र सिंह शेखावत को पहले से चल रहे 16 नेशनल प्रोजेक्ट के साथ ERCP को भी 17वें नेशनल प्रोजेक्ट का दर्जा दिलवाकर PM के वादे को पूरा करवाना चाहिए था।

गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान से सांसद भी हैं और केंद्र में जलशक्ति मंत्री हैं। उनकी राजस्थान की अन्य परियोजनाओं में तो कोई रुचि नहीं है, लेकिन उनके अपने विभाग की महत्वपूर्ण परियोजना (ERCP) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा दिलाने के लिए भी कोई रुचि नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण है। सीएम गहलोत ने कहा कि मैं लगातार 3 सालों से प्रधानमंत्री के जयपुर और अजमेर में चुनाव से पहले 13 जिलों की ERCP को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने के वादे की याद दिला रहा हूं। राजस्थान से आने वाले केंद्रीय जलशक्ति मंत्री ने झूठ बोलकर प्रधानमंत्री के वादे का खंडन किया है। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

कैनाल कैनाल

हर योजना पर राजनीति करने की आदत कांग्रेस को छोड़नी पड़ेगी- शेखावत

केन्द्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट कर गहलोत पर पलटवार करते हुए लिखा कि पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना पर राजनीति करने के लक्ष्य से गहलोत सरकार के मंत्री और खुद मुख्यमंत्री का जो व्यवहार है, उसे किसी भी सूरत में सामान्य नहीं कहा जा सकता। आमजन की भावनाओं का इस्तेमाल कर, सिर्फ राजनीतिक फायदों के लिए मांग उठाने वाले ये याद रखें कि ये मोदी सरकार है। हम जो कहते हैं वो करते हैं। गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि ERCP पर काम होगा और केंद्र सरकार उसे पूरा करने के लिए कटिबद्ध है, लेकिन राजस्थान की गहलोत सरकार को अपनी भूमिका निभानी पड़ेगी। अपनी नाकामी को छुपाने के लिए हर योजना पर राजनीति करने की आदत कांग्रेस को छोड़नी पड़ेगी, नहीं तो राजनीति उन्हें छोड़ देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here